वज्रासन Diamond Pose

MAIN

वज्रासन Diamond Pose

सभी आसनो में वज्रासन ऐसा आसन है, जिसे खाने के बाद या नास्ता करने के बाद तुरंत किया जा सकता है | वज्रासन स्वच्छ्त रहने केलिए उपयोगी आसन है | यह आसन हर उम्र का व्यक्ति सरलता से कर सकता है | इस आसन को अंग्रेजी में Diamond Pose कहा जाता है | वज्रासन दिन में किसी भी समय किया जा सकता है | 
वज्र का मतलब कठोर(मजबूत) होता है | पाचन शक्ति को बढ़ाने के लिए वज्रासन एक अति उतम आसन बताया गया है | रोजाना वज्रासन का अभ्यास करने से जाँघे और घुटने मजबूत बनते है | अगर आपने कभी ज्यादा भोजन कर लिया और आपको पेटमे कोई तकलीफ महेसुस होती हो तो थोड़ी देर वज्रासन में बैठने से राहत मिलेगी | 

वज्रासन करने की विधि :

१) सबसे पहले किसी स्वच्छ जगाह पर कम्बल या कोई आसन बिछाये | 
२) दोनों पैर को सामने की ओर फैलाकर बैठ जाए | 
३) इसके बाद बाए  पैर के घुटने को मोड़कर इस तरह से बैठे की पैर के पंजे  पीछे और उपर की और हो जाए | 
४) अब दाए पैर को भी बाए पैर की तरह ही मोड़कर बैठना है | 
५) अब दोनों पैरो को मोड़ने के बाद इस तराह बैठना है की नितम्ब दोनों एड़ियों  के बिच  आ जाये  | 
६) दोनों पैरो के अंगूठे को मिलाकर रखे | 
७) दोनों एड़ियों में अंतर बनाकर रखे | 
८) शरीर को सीधा रखे | 
९) अपने दोनों हाथो को घुटनो पर रखे | 
१०) धीरे- धीरे शरीर को ढीला छोड़े और आंखे बंध कर के रखे | 
११) धीरे - धीरे लम्बी गहरी सासे लेना और छोड़ना है | 
१२) इस आसन को शरुवात  में 2 से 5 मिनट तक ही करें | बाद में अपनी क्षमता के अनुसार बढ़ाए | 

वज्रासन के लाभ : 

१) शरीर को सुडौल बनाए रखता है | 
२) वजन कम करने में मददगार है | 
३) रीढ़ की हड़ी मजबूत होती है | 
४) मन की चंचलता को दूर करता है और मन की एकाग्रता बढ़ता है | 
५) महिलाओ में मासिक धर्म की अनियमिता दूर होती है | 
६) पाचन शक्ति बढ़ाता है | 
७) अपचन, गैस, कब्ज आदि विकारो को दूर करता है | 
८) वज्रासन से नितम्ब, जाँघे और कमर पर जमी हुवी अनचाही चर्बी को कम करता है | 
९) इस आसन को नियमित करने से घुटनो का दर्द भी कम होता है | 
१०) यह आसन प्रजनन प्राणाली को सशक्त बनाता है | 
११) यह आसन करने से उच्चरक्त चाप कम होता है | 

सावधानी : 

१) जोड़ो में दर्द हो तो वज्रासन न करे | 
२) एड़ी के रोग से पीड़ित व्यक्ति वज्रासन न करे | 
३) अगर यह आसन करते समय आपको कमर में दर्द, कमजोरि जैसी समस्या हो तो यह आसन बंध करदेना ओर अपने डॉक्टर की सलाह ले | 


Post a Comment

0 Comments